40 Google Ranking Factors

Google सर्च इंजन पहले से कहीं ज्यादा स्मार्ट हो गया है। यदि आप अपनी वेबसाइट या ब्लॉग को गूगल सर्च रिजल्ट में टॉप पर ले जाना चाहते हैं, तो आपको Latest SEO और Google ranking factors का पालन करना होगा।

हालांकि, Google जब किसी पेज को रैंक करता है, तो वह बहुत सारे Ranking factors का उपयोग करता है।

लेकिन वे क्या है?

यहां, मैंने Top 20 Google Ranking Factors की एक लिस्ट बनाई है जिन्हें पढकर आप आसानी से अपनी वेबसाइट ट्रैफिक और रैंकिंग बढ़ा सकते है।

तो, चलो शुरू करें…

Google Ranking Factors Full Details हिंदी में

  • Quality Content
  • Content Length
  • Keyword Research
  • Keyword Density
  • Long-Tail Keywords
  • LSI Keywords का उपयोग करें
  • कीवर्ड को पेज के पहले 100 शब्दों में रखें
  • टाइटल को कीवर्ड से शुरू करें
  • HTTPS
  • Mobile-Friendliness
  • Domain Age
  • Domain Registration Length
  • Heading Tags
  • Loading Speed
  • Number of Comments
  • Breadcrumb
  • SEO Friendly URLs
  • Best Permalink Structure का उपयोग करें
  • Backlinks
  • Meta Description
  • Starts Title with Keyword
  • Use ALT Tag
  • Grammar और Spelling
  • Use Media
  • Regular Post
  • Internal Links
  • Regular Post
  • AMP का उपयोग करें
  • Rel=Canonical का उपयोग करें
  • अपनी साइट पर Broken Links को ठीक करें
  • Affiliate Links के लिए Nofollow Tag सेट करें
  • Domain Authority
  • Submit Sitemap
  • Site Uptime
  • Site Usability
  • External Linking
  • Bounce Rate
  • Sneaky Redirects
  • Spinning Content
  • Popups Ads
  • High you look after Low-Quality Links
  • Google Disavow Tool का उपयोग करें

 

Google Ranking Factors Full Details हिंदी में

Quality Content

Google Ranking Factors में यह सबसे Important factor (Key) है। आप चाहे कितनी भी अच्छी SEO या क्यूँ न करें आपकी कंटेंट गूगल में रैंक नहीं कर पायेगी।

आसान शब्दों में कहें, तो यदि आप अपनी साईट पर Informative ब्लॉग पोस्ट नहीं लिखते हैं, तो आप अपने ब्लॉग पर कचरा डालने का कार्य कर रहे हैं और कुछ भी नहीं।

हमेशा Unique और Quality कंटेंट लिखने का प्रयास करें। इसके अलावा, आपकी सामग्री दिलचस्प और Evergreen होनी चाहिए।

Content Length

Short content की तुलना में Long content सर्च इंजन में अच्छी रैंक करती है।

यदि आप छोटी पोस्ट लिखते हैं, तो आपकी कंटेंट की लंबाई कम से कम 1000 words की होनी चाहिए।

इसके अलावा, long blog post के कई फायदे हैं। आप अपने फ़ोकस कीवर्ड को अच्छी तरह से ऑप्टिमाइज़ कर सकते हैं, विजिटर आपकी साइट पर अधिक समय रहेंगे।

Keyword Research

अच्छी कंटेंट के साथ साथ आपको कीवर्ड रिसर्च भी आना चाहिए। कीवर्ड रिसर्च के बिना आप Google या किसी भी सर्च इंजन में टॉप रैंक नहीं प्राप्त कर सकते हैं। यह SEO का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है।

कीवर्ड रिसर्च कोई कठिन काम नहीं है। ऐसे कई बेहतरीन टूल और वेबसाइट हैं जिनका उपयोग आप बेस्ट कीवर्ड खोजने के लिए कर सकते हैं। हमेशा अपनी कंटेंट के लिए Low Competition, High Searches और Long Tail Keyword चुनें। यहाँ एक गाइड है – Keyword research kaise kare

Keyword Density

अपनी कंटेंट में कीवर्ड का उपयोग सही जगह करें। अधिक कीवर्ड का उपयोग करने को कीवर्ड स्टफिंग कहा जाएगा। और आपकी रैंकिंग को hurt कर सकता है।

Keyword stuffing आपकी कंटेंट को को unnatural बनाता है और रीडर पर bad experience बनाता है। अपनी कंटेंट में keyword density 1.5% – 2% रखें।

Long-Tail Keywords

जब आप अपनी साइट को Long-Tail Keyword के साथ ऑप्टिमाइज़ करते हैं, तो आपको अच्छा रिजल्ट मिल सकता है और ऐसे कीवर्ड पर competition भी बहुत कम होती है।

Long-Tail Keywords उपयोग करने के कई लाभ हैं:

  • Rank करने में आसानी होती है
  • Target ट्रैफिक प्राप्त करने में मदद करता है
  • Better Conversion Rate देते है
  • Long Tail Keywords आपको Short Tail Keywords पर भी रैंक करने में मदद करते है
  • Competitive Niches के लिए Perfect होते है
  • Optimize करने में आसानी होती है

LSI Keywords का उपयोग करें

LSI (Latent Semantic Indexing) Long-Tail Keywords की तरह हैं। यह कंटेंट को बेहतर ढंग से समझने में मदद करता है।

इसके अलावा, title and outline में LSI कीवर्ड का उपयोग करें।

कीवर्ड को पेज के पहले 100 शब्दों में रखें

आर्टिकल की शुरुआत के 100 शब्दों में एक बार अपना फोकस कीवर्ड add करें। यह Google को आपकी कंटेंट अच्छे से समझने में मदद करता है।

टाइटल को कीवर्ड से शुरू करें

SEO के अनुसार, कीवर्ड से शुरू होने वाले टाइटल सर्च इंजन में बेहतर रैंक प्राप्त करती है। इसके अलावा, अपने टाइटल को आकर्षक बनाएं। और उसमें 50–60 characters का उपयोग करें।

HTTPS

Google ने अगस्त 2014 में घोषणा की कि HTTPS (SSL Certificate) को एक Ranking factor माना जाएगा।

अगस्त 2017 में, Google क्रोम ने उन साइटों को Insecure के रूप में चिह्नित करना शुरू किया, जो HTTPS का उपयोग नहीं कर रहे है।

तो यह संकेत करता है कि Google अब HTTPS को एक Ranking factor के रूप में कर रहा है उर जो साइट्स HTTPS का उपयोग करेगी वह सर्च इंजन में अच्छा रैंक करेगी। यहाँ

Mobile-Friendliness

आज का युग स्मार्टफोन का है, और आधे से अधिक सर्च स्मार्टफोन से होती है।

इसलिए, Google ने Mobile-friendly search results में सुधार करने के लिए पहला कदम उठाया। और अंत में Mobile-friendliness को Google ranking factors के रूप में पेशकश की।

Heading Tags

H1 tag सर्च इंजन को यह पता लगाने में मदद करता है कि आपका पेज या पोस्ट किस बारे में है।

हालंकि, गूगलर John Mueller H2, H3 Tags के बारे में बताते है

HTML में ये heading tags हमें पेज की structure को समझने में मदद करते हैं।

खैर H1 tags आपकी Google ranking boost करने में मदद करता है। लेकिन यह ध्यान में रखें अपनी पूरी कंटेंट को H1 टैग से ना भरें।

Google सर्च इंजन पहले से कहीं ज्यादा स्मार्ट हो गया है। यदि आप अपनी वेबसाइट या ब्लॉग को गूगल सर्च रिजल्ट में टॉप पर ले जाना चाहते हैं, तो आपको Latest SEO और Google ranking factors का पालन करना होगा।

हालांकि, Google जब किसी पेज को रैंक करता है, तो वह बहुत सारे Ranking factors का उपयोग करता है।

लेकिन वे क्या है?

यहां, मैंने Top 20 Google Ranking Factors की एक लिस्ट बनाई है जिन्हें पढकर आप आसानी से अपनी वेबसाइट ट्रैफिक और रैंकिंग बढ़ा सकते है।

तो, चलो शुरू करें…

Long-Tail Keywords

जब आप अपनी साइट को Long-Tail Keyword के साथ ऑप्टिमाइज़ करते हैं, तो आपको अच्छा रिजल्ट मिल सकता है और ऐसे कीवर्ड पर competition भी बहुत कम होती है।

Long-Tail Keywords उपयोग करने के कई लाभ हैं:

  • Rank करने में आसानी होती है
  • Target ट्रैफिक प्राप्त करने में मदद करता है
  • Better Conversion Rate देते है
  • Long Tail Keywords आपको Short Tail Keywords पर भी रैंक करने में मदद करते है
  • Competitive Niches के लिए Perfect होते है
  • Optimize करने में आसानी होती है

यहाँ एक अल्टीमेट गाइड है – Long-Tail Keywords Research in Hindi

LSI Keywords का उपयोग करें

LSI (Latent Semantic Indexing) Long-Tail Keywords की तरह हैं। यह कंटेंट को बेहतर ढंग से समझने में मदद करता है।

इसके अलावा, title and outline में LSI कीवर्ड का उपयोग करें।

कीवर्ड को पेज के पहले 100 शब्दों में रखें

आर्टिकल की शुरुआत के 100 शब्दों में एक बार अपना फोकस कीवर्ड add करें। यह Google को आपकी कंटेंट अच्छे से समझने में मदद करता है।

टाइटल को कीवर्ड से शुरू करें

SEO के अनुसार, कीवर्ड से शुरू होने वाले टाइटल सर्च इंजन में बेहतर रैंक प्राप्त करती है। इसके अलावा, अपने टाइटल को आकर्षक बनाएं। और उसमें 50–60 characters का उपयोग करें।

तो यह संकेत करता है कि Google अब HTTPS को एक Ranking factor के रूप में कर रहा है उर जो साइट्स HTTPS का उपयोग करेगी वह सर्च इंजन में अच्छा रैंक करेगी। यहाँ एक गाइड है – WordPress Site Ko HTTP Se HTTPS Par Move Kaise Kare

Domain Age

Google’s Matt Cutts ने इस वीडियो में पुष्टि की है।

Matt Cutts कहते हैं

The difference between a website that’s six months old versus one year old is basically not that big in the least .

हिंदी

एक वर्ष और छः माह पुराना डोमेन के बीच का अंतर वास्तव में इतना बड़ा नहीं है।

Domain age केवल नई वेबसाइटों के लिए देखी जाती है क्योंकि वे स्पैम साइटें भी हो सकती हैं या स्पैम फ़ैलाने के लिए ही डेवलप्ड की जाती है।

Domain Registration Length

एक Google patent बताता है कि

Valuable (legitimate) domains अक्सर कई सालों (५ या ६ साल) के लिए Register/paid कर दिए जाते हैं, जबकि doorway (illegitimate) domains का उपयोग शायद ही एक वर्ष या उससे से अधिक समय तक किया जाता है। इस तरह आप समझ सकते है गूगल किसी साईट को रैंक करने के लिए Domain registration length किस तरह उपयोग करता है

Heading Tags

H1 tag सर्च इंजन को यह पता लगाने में मदद करता है कि आपका पेज या पोस्ट किस बारे में है।

हालंकि, गूगलर John Mueller H2, H3 Tags के बारे में बताते है

These heading tags in HTML help us to know the structure of the page.

हिंदी

HTML में ये heading tags हमें पेज की structure को समझने में मदद करते हैं।

खैर H1 tags आपकी Google ranking boost करने में मदद करता है। लेकिन यह ध्यान में रखें अपनी पूरी कंटेंट को H1 टैग से ना भरें।

Loading Speed

Google अपने यूजर को बेहतर User Experience देने के लिए वेबसाइट लोडिंग स्पीड को Google ranking factors के रूप में उपयोग करता है। यदि आपकी साइट की लोडिंग गति बहुत अच्छी है, तो Google आपकी कंटेंट को टॉप रैंक देगा।

Website loading speed को बेहतर करने के लिए Quick tips:

  • PHP 7.2 में upgrade करें
  • अपनी Image size को Optimize करें
  • केवल उपयोगी plugins को रखें
  • Unwanted media को Delete करें
  • CSS and JS Files को Minify करें
  • अच्छी Cache plugin का उपयोग करें
  • Redirects को Minimize करें
  • Lightweight theme का उपयोग करें
  • CDN का उपयोग करें
  • अच्छी वेब होस्टिंग का उपयोग करें

Number of Comments

हम कमेंट को Google ranking factor की चाभी मान सकते हैं। चूंकि बहुत सी कमेंट आपकी कंटेंट की quality और user-interaction को दर्शाती हैं।

Breadcrumb

Breadcrumb Users को यह जानने में सहायता करता है कि वे आपकी साइट पर कहां हैं और साथ ही सर्च इंजन को आपकी साइट की Structure को समझने में सहायता करते हैं।

Google Search सर्च रिजल्ट में पेज से जानकारी को categorize करने के लिए Breadcrumb Markup का उपयोग करता है।

का उपयोग करता है।

SEO Friendly URLs

सर्च इंजन आपकी कंटेंट की Title, Meta Description और URL का उपयोग करके निर्धारित करता है कि कंटेंट किस बारे में है। अपने URLs को short और meaningful बनाएं। साथ ही साथ इसमें टार्गेट कीवर्ड जोड़ना ना भूलें।

हमेशा SEO Friendly URLs का प्रयोग करें

https://inhindihelp.com/page-seo-techniques/

हमेशा ऐसे यूआरएल से बचें

http://justbrightme.com/p=123

http://justbrightme.com/5/10/17/category=SEO/of-page-seo-best-web-optimization

SEO Friendly URLs Create करने के लिए Quick Tips:

  • अपने URL में Keyword का उपयोग करें
  • Words Separate के लिए Hyphen (-) का उपयोग करें
  • अपने URL को छोटा रखें
  • अपने URL में अधिक Folder/Category का उपयोग न करें
  • Stop Words remove करें
  • URL में hash (#) का उपयोग न करें

Best Permalink Structure का उपयोग करें

यदि आप एक वर्डप्रेस यूजर हैं, तो आपको इस पर ध्यान देने की आवश्यकता है। WordPress का Default URL Structure SEO Friendly नहीं है और यह कुछ इस तरह दिखता है।

https://domain.com/?p=123

लेकिन चिंता न करें, आप इसे आसानी से बदल सकते हैं। बस Settings >> Permalinks आप्शन पर क्लिक करें और “Post name” चुनें।

Backlinks

Backlinks एक बहुत पुराना Google ranking factors है जिसे Google किसी कंटेंट को रैंक करने के लिए उपयोग करता है। बैकलिंक्स आपकी Google सर्च रैंकिंग में एक बड़ा अंतर ला सकते है। यह आपकी रैंकिंग को एक नई ऊंचाई तक ले जा सकते है या रात भर में नीचे ला सकते है।

Domain authority, Google website ranking, और website traffic को बढ़ाने के लिए Backlinks बहुत जरूरी है।

यदि आप अपनी साइट के लिए Bad बैकलिंक्स बनाते हैं, तो ये backlinks आपकी Website ranking को बुरी तरह चोट पहुंचा सकता है। इसलिए हमेशा अपनी वेबसाइट या ब्लॉग के लिए High-quality Backlinks बनाये।

Meta Description

मेटा डिस्क्रिप्शन टेक्निकली Google ranking factor नहीं है। लेकिन यह आपकी कंटेंट पर Click Through Rate (CTR) बढ़ाने में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

हालांकि, Google आम तौर पर Meta Descriptions के लिए 300 characters लिखने की अनुमति देता है।

Starts Title with Keyword

SEO के अनुसार, कीवर्ड के साथ शुरू होने वाला एक टाइटल सर्च इंजन में बेहतर रैंक प्राप्त करता है। साथ ही, टाइटल की लम्बाई 50-60 Characters की होनी चाहिए।

Use ALT Tag

Google में Images पढ़ने की क्षमता नहीं है, इमेज किस बारे में है यह जानने के लिए Alt tag को क्रॉल करता है। इसलिए आपको अपनी छवि में Meanigful नाम का उपयोग करना चाहिए।

Grammar और Spelling

Proper grammar और Spelling आपके आर्टिकल की Quality में सुधार करती है? Matt Cutts का इसपर एक विडियो है जो बता रहे है, यह महत्वपूर्ण है या नहीं।

Use Media

यदि आप अपनी कंटेंट में मीडिया (छवियों, वीडियो, और इन्फोग्राफिक) का उपयोग करते हैं, तो यह आपकी कंटेंट को और भी अधिक उपयोगी और आकर्षक बनाता है।

सीधे शब्दों में कहें, तो एक मीडिया 1000 शब्दों की व्याख्या कर सकता है।

Regular Post

यदि आप अपनी ब्लॉग पर नियमित रूप से पोस्ट पब्लिश करते है, तो आपकी रैंकिंग और रीडर दोनों में बढ़ोतरी होगी। लेकिन आपकी कंटेंट जानकारीपूर्ण और उपयोगी होनी चाहिए।

Internal Links

Internal linking सर्च इंजन और यूजर दोनों को आपकी कंटेंट के बारे में Relevant जानकारी प्रदान करता है।

यदि आप इंटरनल लिंकिंग का उपयोग करते हैं, तो यह आपकी पोस्ट को और भी अधिक जानकारीपूर्ण बनाता है। इसके अलावा, विजिटर आपकी साइट पर अधिक समय बिताते हैं जो बाउंस दर को कम कर करता है। साथ ही Google आपके कंटेंट को क्वालिटी कंटेंट मानता है।

Regular Post

Regularly ब्लॉग पर पोस्ट पब्लिश करने से आपकी रैंकिंग और रीडर दोनों बढ़ सकते हैं। लेकिन आपकी कंटेंट informative और उपयोगी होनी चाहिए।

AMP का उपयोग करें

कई SEO experts का मानना है कि AMP Google ranking factor है और कई मानते हैं कि यह नहीं है।

AMP का पूरा नाम Accelerated Mobile Pages है। यह मोबाइल पेज के लिए ऑप्टिमाइज़ किया गया है जो मोबाइल में बहुत फ़ास्ट लोड होता है।

Rel=Canonical का उपयोग करें

Rel = canonical को “canonical लिंक” कहा जाता है जो duplicate content issues को रोकने में मदद करता है।

जब rel = canonical टैग का उपयोग ठीक से किया जाता है , तो आप अपनी साइट को डुप्लिकेट कंटेंट के लिए Google पेनल्टी से बचा सकते हैं।

अपनी साइट पर Broken Links को ठीक करें

जब आप अपनी वेबसाइट के किसी भी पेज को move या delete करते हैं तो Broken Links की समस्या आती है।

यदि आपकी साइट में बहुत सारे टूटे हुए लिंक हैं, तो Google आपकी साइट को धीरे-धीरे क्रॉल करेगा। यह आपकी site ranking और user experience दोनों को प्रभावित करता है।

Affiliate Links के लिए Nofollow Tag सेट करें

Affiliate Links आपकी रैंकिंग को नुकसान नहीं पहुंचाते हैं। लेकिन आपके ब्लॉग पर बहुत सारे Affiliate Links हैं, तो यह आपकी रैंकिंग को नुकसान पहुंचा सकता है।

Affiliate Links के लिए हमेशा rel = “nofollow” टैग सेट करें। यदि आप अपने Affiliate Links को मैनेज करने के लिए प्लगइन का उपयोग करते हैं, तो आप आसानी से उनके लिए Nofollow Tag सेट कर सकते हैं।

Domain Authority

Domain Authority आपकी साइट की reputation को दर्शाता है। Higher domain authority sites को सर्च रिजल्ट में बेहतर रैंक मिलती है।

यह 1 से 100 के पैमाने पर बनाया गया है। आप अपनी साइट की DA देखने के लिए Moz के फ्री टूल – Open Site Explorer का उपयोग कर सकते हैं।

Submit Sitemap

Sitemap गूगल को आपकी वेबसाइट को बेहतर क्रॉल और index करने में मदद करते हैं। और आपकी website structure को भी आसानी से समझने में मदद करता है।

Site Uptime

यदि आपकी साइट अधिकांश समय डाउनटाइम में रहती है, तो यह आपकी रैंकिंग को नुकसान पहुंचा सकती है। यहां तक कि Google आपकी साइट को deindex कर सकता है।

इसलिए किसी अच्छी कंपनी से होस्टिंग खरीदें जो 99.99% अपटाइम देता हो।

Site Usability

अपनी साइट को simple और clean रखें ताकि यूजर आसानी से नेविगेट कर सकें। एक साइट जो नेविगेट करना मुश्किल है, उसका bounce rate अधिक होगा और रैंकिंग को indirectly चोट पहुंचा सकती है।

External Linking

External links SEO के लिए फायदेमंद हो सकते हैं। लेकिन हमेशा reputed domains के साथ लिंक करें।

Bounce Rate

हर कोई यह नहीं मानता है कि bounce rate एक Google ranking factors में से एक है। लेकिन यह Google को आपकी साइट की quality के बारे में बताता है

यदि आपकी साईट की bounce rate अधिक होगी, तो आपकी रैंकिंग सर्च इंजन (SERPs) में अच्छी नहीं होगी।

Sneaky Redirects

इस तकनीक का उपयोग Black Hat SEO में किया जाता है । इसमें सर्च इंजन एक चीज देखते हैं और विजिटर दूसरा देखते हैं।

यह Google सर्च इंजन guidelines का उल्लंघन करता है। यदि आप पकड़े गए, तो आपकी साइट को penalized किया जा सकता है या de-indexed किया जा सकता है।

Spinning Content

यह कंटेंट की नकल करने के समान है। कई यूजर third-party tool or website का उपयोग करके पोपुलर ब्लॉग की कंटेंट को स्पिन करते हैं।

Google ऐसी कंटेंट से घृणा करता है। और अगर Google को संदेह होता है कि आपकी कंटेंटSpinning है, तो इसका रिजल्ट penalties या de-indexing हो सकता है।

Popups Ads

बहुत से पॉपअप ads रीडर का ध्यान भटकाते हैं। बहुत सारे crop up ads वाली साइट को low-quality site माना जाएगा।

High % of Low-Quality Links

यदि आपके लिंक प्रोफ़ाइल में बहुत सारे low-quality links हैं, तो आपको Google पेनल्टी का खतरा है।

Low-quality backlinks वेबसाइट रैंकिंग को बुरी तरह प्रभावित करते हैं। Google वेबसाइट को पूरी तरह से सर्च रिजल्ट से remove कर सकता है।

Google Disavow Tool का उपयोग करें

Disavow Tool का उपयोग bad backlinks या low-quality links को हटाने के लिए किया जाता है। बस आपको एक टेक्स्ट फ़ाइल बनाने और bad backlinks टाइप करने की आवश्यकता है जिसे आप हटाना चाहते हैं।

Google Ranking Factors के बारे में कोई विचार या प्रशन्न है, तो कमेंट बॉक्स में बताये। ऐसे ही और informational Posts पढ़ते रहने के लिए और नए blog posts के बारे में Notifications प्राप्त करने के लिए हमारे ब्लॉग को Subscribe कीजिये।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here