cloaking

SEO in Hindi – Black Hat SEO Techniques

Black Hat seo Techniques in hindi, Black Hat seo Techniques in hindi Keyword Stuffing Cloaking Hidden Text Doorway Pages Article Spinning Duplicate content Black Hat SEO Techniques in Hindi an inventory of top 6 black hat SEO techniques are given below: 1) Keyword Stuffing search इंजन वेबसाइटों को index करने के लिए webpages पर keyword.

 

Black Hat seo Techniques in hindi

  • Keyword Stuffing
  • Cloaking
  • Hidden Text
  • Doorway Pages
  • Article Spinning
  • Duplicate content

 

A list of top 6 black hat SEO techniques are given below:

1) Keyword Stuffing

search इंजन वेबसाइटों को index करने के लिए webpages पर keyword और प्रमुख वाक्यांशों की छानबीन करता है। search इंजन की इस विशेषता का फायदा उठाने के लिए, कुछ SEO व्यवसायी उच्च रैंकिंग प्राप्त करने के लिए keyword की मात्रा को बढ़ाते हैं जिसे एक Black Hat SEO तकनीक माना जाता है। दो से चार प्रतिशत के बीच keywords शब्दों के घनत्व को सबसे अच्छा माना जाता है, इससे परे खोज शब्दों की मात्रा बढ़ाना आपके पाठकों को परेशान करेगा और आपकी रैंकिंग को प्रभावित करेगा।

2) Cloaking

इसमें webpages की coding को इस तरह से लिखा जाता है कि search इंजन लेख अथवा content का एक सेट देखते हैं और पड़ने वाला व्यक्ति लेख का एक और सेट देखते हैं, अर्थात एक उपयोगकर्ता “सोने की कीमत” के लिए search परिणाम “current gold price” पर क्लिक करता है और अंदर travel and tourism की website खुलती है। Keyword Research क्या है और SEO के लिए क्यों जरुरी है? यह करना search इंजन के दिशा-निर्देशों के अनुसार नहीं है, जो program के लिए नही उपयोगकर्ताओं के लिए लेख बनाने को कहते है।

 

3) Hidden Text

जो वाक्य search इंजन देख सकते हैं लेकिन पाठकों से छिपे हुए होते हैं उन्हें Hidden Text कहा जाता है। इस तकनीक का उपयोग irrelevant keyword को शामिल करने और keyword घनत्व को बढ़ाने या internal link structure को बेहतर बनाने के लिए text या लिंक छुपाने के लिए किया जाता है। text को छुपाने के कुछ तरीके हैं फ़ॉन्ट आकार को शून्य पर सेट करना, text off स्क्रीन सेट करने के लिए CSS का उपयोग करना, सफेद पृष्ठ पर सफेद text लिखना, आदि।

Meta Tag In Hindi

 

4) Doorway Pages

खराब लिखित पृष्ठ, जो keyword में समृद्ध होते हैं, लेकिन इसमें relevant जानकारी नहीं होती है और उपयोगकर्ताओं को एक असंबंधित पृष्ठ पर भेजने के लिए लिंक पर ध्यान देते करते हैं, जिन्हें doorway pages कहा जाता है। इन पृष्ठों का उपयोग black hat SEO पेशेवरों द्वारा उपयोगकर्ताओ को किसी unrelated website पर भेजने के लिए किया जाता है।

40 Google रैंकिंग Factors 2020 in Hindi

5) Article Spinning

इसमें अपनी अलग प्रतियों (copies) का उत्पादन करने के लिए एक लेख को फिर से घूमा फिरा के लिखा जाता है ताकि प्रत्येक प्रतिलिपि एक नए लेख की तरह दिखे। इस तरह के लेखों की content दोहराई गई है, खराब तरीके से लिखी गई है और visitors के लिए कम valuable है। इस तकनीक में, इस तरह के लेख नियमित रूप से ताज़ा लिखे लेखों का भ्रम बनाने के लिए अप-लोड किए जाते हैं।

 

6) Duplicate content

मूल content के रूप में किसी अन्य वेबसाइट पर प्रकाशित करने के लिए एक वेबसाइट से copy की गई content को duplicate content के रूप में जाना जाता है। इस black hat तकनीक को Plagiarism के रूप में जाना जाता है।

 

SEO in Hindi – White Hat SEO Techniques

what is white hat seo, White Hat SEO Techniques in Hindi, white hat seo kya hai, White Hat SEO Techniques in Hindi, Good content, Proper use of title, keywords and meta tags, simple navigation, Site performance, Quality inbound Links, White Hat SEO Techniques in Hindi an inventory of 5 popular white hat SEO techniques

White Hat SEO Techniques in Hindi,

  • Good content,

  • Proper use of title, keywords and meta tags,
  • Ease of navigation,
  • Site performance,
  • Quality inbound Links,

 

A list of 5 popular white hat SEO techniques are given below:

1) Good content

एक अच्छी तरह से लिखी गया लेख आपकी website को search इंजन और मानव visitors के लिए अधिक भरोसेमंद और मूल्यवान बनाती है। यह आपकी वेबसाइट को search इंजन के लिए अनुकूलित करता है जो आपको search इंजन listing पर उच्च रैंकिंग प्राप्त करने में मदद करता है क्योंकि search इंजन उपयोगकर्ताओं को उनकी search के लिए सबसे उपयुक्त वेबसाइट प्रदान करते हैं।

 

2) Proper use of title, keywords and meta tags

HTML कोड में जो जानकारी होती है वो Metadata के रूप में जानी जाती है। यह crawler को classification और indexing उद्देश्यों के लिए साइट के बारे में जानकारी प्रदान करता है। इसलिए, Metadata में उचित keyword और Meta Tag को शामिल किया जाना चाहिए।

 

3) simple navigation

search इंजन किसी साइट की उपयोगिता का पता करते समय navigation की आसानी पर भी ध्यान देते हैं, इसलिए irrelevant लिंक से बचे और universal उपयोगी लिंक का उपयोग करें। यह न केवल उपयोगकर्ताओं के लिए महत्वपूर्ण है, बल्कि उन crawlers के लिए भी है जो साइटों को index करते हैं।

 

4) Site performance

Site और pages की performance साइटों का आकलन करने के लिए search इंजन द्वारा माना जाने वाला एक अन्य कारक है। अनुपलब्ध sites या अनुपलब्ध पेज search इंजनों के crawler द्वारा index नहीं किए जा सकते हैं; एक सप्ताह या एक दिन भी perform नहीं करने वाली site या पेज साइट के ट्रैफ़िक पर बुरा प्रभाव डाल सकते हैं। तो, सुनिश्चित करें कि आपकी साइट तेजी से लोड होती है और हर समय उपलब्ध है।

 

5) Quality inbound Links

साइट में गुणवत्ता वाले inbound links होने चाहिए क्योंकि search इंजन नियमित रूप से उनकी relevance के लिए लिंक का आकलन करते हैं। यदि किसी साइट में irrelevant backlink पाए जाते हैं, तो उसे search इंजन द्वारा दंडित किया जाता है। उदाहरण के लिए भारत में खेती के बारे में एक वेबसाइट है जिसमें खेती की तकनीकों के बारे में European वेबसाइटों के कई लिंक हैं, तो उसे search इंजनों द्वारा दंडित किया जाएगा जिससे के उसके program rank पर असर पड़ेगा।

 

यह भी पढ़ें-

Basic Computer Components की जानकारी Hindi में ।

History of computer | Generation of Computer की पूरी जानकारी Hindi में l

सॉफ्टवेयर क्या होता है – What is Software(In Hindi)?

कम्प्युटर के फायदे और नुकसान हिंदी में।

 

 

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here