Google Search Console

आज इस टुटोरिअल में, मैं Google Search Console tool के उपर एक Complete guide शेयर करने जा रहा हूँ। Google Search Console Tools का उपयोग कैसे करें और Website traffic कैसे बढ़ाएं।

Google Search Console को आप अपनी वेबसाइट Performance (आपकी साईट Google में कैसा प्रदर्शन कर रही है) ट्रैक करने के लिए उपयोग कर सकते है। आप अपने Google Search Console account से अपनी वेबसाइट कि Valuable insights प्राप्त कर सकते हैं जैसे कि Crawl errors, Ranking Keyword, impressions और भी बहुत कुछ।

इसके अलावा, यदि आपकी साईट में कोई भी Errors होती है, तो Google Search Console द्वारा आपको Mail किया जाएगा। जिसके कारण आपको उन Errors के बारे में जल्दी से पता चल जायेगा जिन्हें आपको ठीक करने की आवश्यकता है।

Google Search Console Complete Beginner Guide

Google Search Console tool उपयोग करने के लिए, आपको सबसे पहले एक Account बनानी होगी। Account create करने के बाद Google Search Console के top bar में ‘Add Property’ पर क्लिक करें

इसके बाद अपनी वेबसाइट का सही Version दर्ज करें कहने का अर्थ है कि Google HTTP और HTTPS को दो अलग-अलग प्रोटोकॉल मानता है। इसलिए https://www.example.com और https://example.com को दो अलग-अलग वेबसाइटों के रूप में मानता है।

इसलिए सुनिश्चित करें कि आप अपनी वेबसाइट का सही URL दर्ज किया है। सही Data Collect करने के लिए, website का सही version add करना बहुत महत्वपूर्ण है।

Continue बटन पर क्लिक करने के बाद आपको अपनी वेबसाइट Verify करनी होगी कि आप इसके मालिक है। Ownership verify करने के लिए आपको 5 methods दिखाई देंगे।

यदि आप एक WordPress यूजर है और Yoast SEO प्लगइन का उपयोग करते है, तो HTML tag सबसे simplest way है। बस आपको Yoast SEO के Webmaster tools (SEO >> General >> Webmaster Tools) सेक्शन में जाकर HTML tag paste करनी होगी।

इसे Save करने के बाद, Google Search Console पर लौटकर ‘Verify’ बटन पर क्लिक करें। यदि आपने सही HTML tag का उपयोग किया है, तो आपको एक Success संदेश मिलेगा और Google Search Console आपकी वेबसाइट के लिए Data collect करना शुरू कर देगा।

लेकिन यदि आप अपनी साइट पर Yoast SEO का उपयोग नहीं करते है, तो आप HTML tag को अपनी साईट के <head> section में paste कर सकते है। इसके लिए आप Insert Headers and Footers plugin का उपयोग कर सकते है। Settings >> Insert Headers and Footers पर क्लिक करें और अपनी HTML tag को ‘Scripts in Header‘ box में पेस्ट करें।

यदि आप Site Ownership को बिना प्लगइन के verify करना चाहते है, तो पहले मेथड HTML file का उपयोग कर सकते है। बस HTML file डाउनलोड करके अपनी वेबसाइट के Root फोल्डर में अपलोड करें और Google Search Console पर लौटकर ‘Verify’ बटन पर क्लिक करें।

एक बार जब आप ऐसा कर लेते हैं, तो आप अगले Step के लिए बढ़ सकते हैं।

Set A “Preferred Domain”

आपको अपनी साईट के लिए एक Preferred Domain set करना बहुत जरूरी है। यह Google को आपकी साइट “WWW” या गैर-www version के साथ उपयोग करने के लिए कहता है।

हालंकि मुझे खुद ‘WWW’ पसंद नहीं है और मैं अपनी किसी भी वेबसाइट पर WWW उपयोग नहीं करता हूँ। ये आपके Website SEO के लिए कोई Matter नहीं रखता है। यदि आप ‘WWW’ version का उपयोग करते है, तो आपकी साइट सर्च रिजल्ट में ‘WWW’ के साथ दिखाई देगी।

Google कहता है – “If you don’t specify a preferred domain, we may treat the www and non-www versions of the domain as separate references to separate pages”.

Set Your Target Country

यदि आपकी वेबसाइट किसी Specific country में रैंक कर रही है या Users को टार्गेट कर रही है, तो आप Google को उस Particular country के Users को target करने के लिए कह सकते हैं।

Google Search Console के पुराने Version पर जाएं, और Search Traffic >> International Targeting पर क्लिक करें।

‘Country’ टैब पर क्लिक करें और उस Country को सेलेक्ट करें जिसे आप target करना चाहते हैं।

यदि आप सोच रहे है कि Country चुनने से आपकी वेबसाइट अन्य Countries के लिए search results में दिखाई नहीं देगी, तो आप बिलकुल गलत सोच रहे है। यदि आपकी कोई पेज अन्य Country के audiences के लिए उपयोगी और Relevant है, तो Google इसे Search results में दिखाएगा।

Target country सेट करने से Google को आपके audience को समझने में मदद मिलती है और Local search results में आपकी साईट ranking boost होती है।

Add a Sitemap

Sitemap आपकी website URLs से भरी होती है। यदि आप अपनी वेबसाइट पर sitemap Add करते हैं, तो सर्च इंजन आपकी वेबसाइट को बेहतर क्रॉल करेगा। हालांकि यह आपकी Search rankings को Boost नहीं करता है, यह आपकी कंटेंट को fast index और Better crawl करने में मदद कर सकता है।

छोटी साइटके लिए Sitemap submit करना आवश्यक नहीं हैं। लेकिन बड़ी Sites के लिए (जैसे e-commerce sites) एक Sitemap बहुत जरूरी है।

यदि आप अपनी WordPress साईट पर Yoast plugin का उपयोग कर रहे है, तो आपके पास पहले से ही एक Sitemap मौजूद है। बस आपको Google Search Console में Submit करने की जरूरत है।

Sitemap के लिए Yoast SEO >> General >> Features पर क्लिक करें और XML sitemaps को ‘On‘ करे फिर ‘See the XML Sitemap‘ लिंक पर क्लिक करें,

अपनी Browser के address bar से URL को कॉपी करें। यह आपकी Sitemap होगी और कुछ इस तरह दिखेगी,

https://example.com/sitemap_index.xml

अब हमारे पास Sitemap मौजद है। चलिए अब इसे Google Search Console में Submit करते है।

Google Search Console dashboard के, बाएं Column में स्थित ‘Sitemaps‘ आप्शन पर क्लिक करें फिर URL के last part (sitemap_index.xml) को paste करके Submit बटन पर क्लिक करें।

Index Coverage

यह थोड़ा Technical है लेकिन बहुत ही महत्वपूर्ण है। Index Coverage रिपोर्ट आपको बताता है कि आपकी साइट के कौन से पेज Google में index हैं। यह आपको Errors ओर warnings के बारे में भी बताता है जो पेज को index होने से रोकते हैं।

आपकी वेबसाइट पर क्या Errors और Warnings आ रही हैं, यह देखने के लिए नियमित रूप से इस टैब को देखें। हालाँकि, Google को नई Errors मिलने पर आपको notification भेजता हैं। जब आपको ऐसी कोई notification मिलती है तो आप यहाँ पर आकर और अधिक detail से error की जाँच कर सकते हैं।

  • Index Coverage Issue Fix कैसे करें

जब आप Error status पर क्लिक करते हैं, तो आपको error पेज की एक list दिखाई देगी जिन्हें आप अधिक गहराई से analyze कर सकते हैं। Error को ठीक करने के बाद Validate fix आप्शन पर क्लिक कर सकते है। Google फिर से URLs को test करेगा।

Coverage reports को चेक करते समय कुछ चीजें आपको हमेशा देखनी चाहिए।

  • यदि आप New content लिख रहे हैं, तो आपके indexed pages की संख्या लगातार बढ़ती रहनी चाहिए। इससे पता चलता है कि Google आपकी साइट को Properly index कर रहा है।
  • अचानक गिरावट! इसका मतलब यह हो सकता है कि Google को आपकी वेबसाइट तक पहुँचने में परेशानी हो रही है। इसका मुख्य कारणtxt में बदलाव हो सकता है या आपका server down हो। आपको इस पर ध्यान देने की आवश्यकता है!
  • ग्राफ़ में अचानक बढोतरी! इसका कारण हो सकता है – Duplicate content या आपकी साईट हैक हो चुकी है आदि।

आप इसपर बारीकी से निगरानी रखें और errors को शीघ्रता से resolve करें।

Performance

Performance टैब द्वारा आप यह देख सकते है कि Google में आपकी वेबसाइट की कौन सी Page और Keyword Rank कर रहे है।

New Google Search Console में, आप डेटा को 16 महीने तक देख सकते हैं। लेकिन डेटा आपके Account में तब से दिखाई देगी जब आपने अपनी Account create किया था।

यदि आप Performance tab को regularly चेक करते हैं, तो आप देख सकते हैं कि कौन से keywords और pages को optimization की जरूरत है। Performance tab में, आपको ‘queries’, ‘pages’, ‘countries’ or ‘devices’ की एक लिस्ट दिखाई देगी। इसके अलावा आप ‘clicks’, ‘impressions’, ‘average CTR’ or ‘average position’ भी देख सकते है।

Links

SEO में लिंक एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। Google इसे एक Ranking factor के रूप में उपयोग करता है।

Google Search Console टूल में Links report आपको external links, internal links, top linking sites, and top linking text दिखाता है। किसी भी link reports का detailed results देखने के लिए more बटन पर क्लिक करें।

Mobile usability

आज के समय में आधे से ज्यादा सर्च मोबाइल द्वारा होते है। इसलिए गूगल Mobile-friendly websites को सर्च रिजल्ट में बेहतर रैंक देता है।

यह टैब आपकी वेबसाइट या specific पेज के लिए mobile usability issue के बारे में बताता है अर्थात आपकी साईट या page mobile-friendly नहीं है। हम इसे रोज चेक करने की सलाह देते है। यदि आपकी साईट Mobile-friendly नहीं है, तो mobile search में आपकी site rankings पर बुरा प्रभाव पड़ेगा।

आप Error पर क्लिक करके affected pages को देख सकते है।

Manual Actions

Manual actions टैब वह सेक्शन है जब आपकी साइट को Google द्वारा penalized करता है, तो यहां आप detailed information देख सकते है। यदि आपकी साइट manual action से प्रभावित होती है, तो आपको ईमेल के माध्यम से भी Notify किया जायेगा।

ये Manual actions आमतौर पर तब होती हैं जब कोई वेबसाइट illegal activities, spamming और अन्य fraudulent या fishy activities में शामिल होती है।

Manual Actions के कारण

  • Unnatural या खरीदे गए links के कारण
  • आपकी साइट हैक होने पर
  • आप Google से कुछ छिपा रहे हैं
  • Spammy structured markup
  • और भी बहुत कुछ

Manual Actions को fix करने के बाद, आप Request review button पर क्लिक कर सकते हैं। Google Search team आपकी वेबसाइट को फिर से चेक करेंगे।

AMP

यदि आप अपनी वेबसाइट पर AMP (Accelerated Mobile Pages – lightning fast mobile pages) का उपयोग करते हैं, तो आप Google Search Console द्वारा AMP पेज में आने वाले error को चेक कर सकते हैं। इस Section में, आप valid AMP pages, valid ones with warnings और Errors देख सकते है।

यदि आप किसी एक Error पर क्लिक करते हैं, तो आप नीचे affected URLs देख सकते हैं।

URL Inspection

URL inspection tool आपको अपनी वेबसाइट पर एक specific URL चेक करने की अनुमति देता है कि Google search उस URL को कैसे देखता है। यह टूल Detailed crawl, index, AMP error, last crawl date आदि के बारे में जानकारी प्रदान करता है।

एक URL दर्ज करें जिसकी आप last crawl date and standing , crawling or indexing errors, देखना चाहते है।

Google Search Console के नए Version में क्या क्या नही है?

कुछ ऐसे features है जो New Google Search Console में अभी तक उपलब्ध नहीं है यहाँ हम उन सभी को Cover करने वाले है,

  1. Search appearance

New Google Search Console में Search appearance फीचर missing है जिसके कारण हम नए वर्शन में Structured data, Rich cards, Data highlighter’ और HTML improvements फीचर का उपयोग नहीं कर सकते है।

यदि आपने अपनी वेबसाइट में Structured data add किया है, तो इसे चेक करने के लिए आपको Old version का उपयोग करना होगा। साथ ही HTML improvements के लिए भी आपको Older Google Search Console पर जाने कि जरूरत होगी।

२. International targeting

जिन वेबसाइटों के पेज विभिन्न भाषाओं में हैं, उनके लिए international targeting बहुत महत्वपूर्ण है और जो विभिन्न Countries या Regions के लोगों को टार्गेट करते हैं। जब आप अपनी वेबसाइट पर hreflang implement करते हैं, तो आप Older Google Search Console के इस सेक्शन में Error चेक कर सकते हैं।

  1. Crawl stats

Crawl टैब में, निम्नलिखित आप्शन जैसे Crawl errors, Crawl stats, Fetch as Google, Robots.txt tester, Sitemaps और URL parameters मौजूद थे। जो कि नए version में उपलब्ध नहीं है।

हालंकि आप Crawl errors को new Google Search Console के index coverage तब द्वारा फिक्स कर सकते है। लेकिन और दुसरे सभी आप्शन हटा दिए गए है।

  1. Security Issues

Security issues tab, आपकी वेबसाइट पर security issue होने पर Notify करता था। जो कि यह फीचर Google Search Console Beta में missing है।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here